Har hajat puri hone ki dua, By Imam Husain

Har hajat puri hone ki dua By Imam Husain

Har hajat puri hone ki dua अकसर मोमनीन का सवाल होता है और परेशान भी रहते है के दुआ कबूल नही हो रही है हर शख्स की अपनी हाजत होती है और उन हजात को पूरा कराने के लिए हम दुआ करते है अम्ल करते है लेकिन कुछ की दुआ कबूल हो जाती है और कुछ मोमनीन की दुआ कबूल नही होती है तो आज हमको आपको एक ऐसे अम्ल के बारे में बताने जा रहे है जिसको आप पुख्ता इरादे के साथ करेगे तो आपकी दुआ ज़रूर कबूल होगी !

ये तरीका ऐसा है जो पैगम्बर इस्लाम के हवाले से इमाम हुसैन अ.स. (अल्लाह हुम्मा सल्ले अला मोहम्मद वा आले मोहम्मद) ने हमे बताया है और एक हफ्ते तक इस अम्ल को करना है और इस अम्ल को ओलेमा ने लिखा है दस्तुरुल अम्ल ए हुसैन अब्ने अली !

इस अम्ल में आपको रोज़ाना 10 तस्बी पढ़नी है यानि एक ज़िक्र को 1000 मर्तबा पढ़ना है लाज़मी वो दुआ ज़रूर पूरी हो जाएगी !

अम्ल का तरीका :

शनिवार के दिन: या हय्यो या कय्यूम 1000 मर्तबा !

इतवार के दिन: इय्याका नाअबदो वा इय्याका नास्ताईन 1000 मर्तबा !

पीर के दिन: सुभान अल्लाहे वाल्हम्दो लिल्लाहे 1000 मर्तबा !

मंगल के दिन: या अल्लाहो या रहमानो 1000 मर्तबा !

बुध के दिन: हस्बी अल्लाहो वा नेहमल वकील 1000 मर्तबा !

जुमरात के दिन: या गफूरो या रहीम 1000 मर्तबा !

जुमे के दिन: या ज़लजलाले वल इकराम 1000 मर्तबा !

Dolat Mand Hone Ka Wazifa

Har hajat puri hone ki dua

इंशाल्लाह एक हफ्ते के अंदर अंदर आपकी दुआ क़बूल हो जायगी ये दस्तुरुल अम्ल इमाम हुसैन अ. स. (अल्लाह हुम्मा सल्ले अला मोहम्मद वा आले मोहम्मद) ने पैगम्बर इस्लाम के हवाले से तालीम किया है इस अम्ल को आप किसी भी दिन से शुरू कर सकते है !

BUY DRY FRUIT

2 thoughts on “Har hajat puri hone ki dua, By Imam Husain

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *