Jafar jinn ka Amal जाफ़र जिन का अम्ल

Jafar jinn ka Amal 

Jafar jinn ka Amal आज हम आपको एक ऐसा अम्ल बताने जा रहे है जो बहुत ही मुजर्रब और बेहतरीन है अगर आप इस अम्ल को करते है तो यकीन मानिये आपको इस अम्ल को करने से बहुत फायदा होगा !

अम्ल को करने का तरीका !

Nauchandi Jumerat Ka Amal नौचंदी जुमरात के दिन आपको करना ये है के आपकी जो भी हैसियत है 100, 200, 300, 500, 1000 आपको क़ुरआन पाक उठाना है और उसके 14वे पारे में पैसे रखने है और आपको कहना ये है में जाफर जिन इब्ने राहिल जिन के नाम के पैसे रखता हूँ या रखती हूँ और आपको क़ुरआन शरीफ को बंद कर देना है और इसी तरह हर आने वाली नौचंदी जुमरात को अपने 14वे पारे में जो भी आपकी हाजात है जो भी आपकी मन्नते मुरादे है जो भी आपको अल्लाह से चाहिए वो आप अपने दिल में तसव्वुर करे और अपनी मन मुताबिक़ क़ुरआन शरीफ में पैसो को रखते रहना है आपको खुद ही इस अम्ल का पता चल जाएगा की ये कितना बेहतरीन अम्ल है और आपके हालात में कैसे खुशहांली आती जाती है

Jafar jinn ka Amal

जब आप ये पूरा साल कर गुज़रे गे मन्नत को हर नौचंदी जुमरात को पैसे रखते रहेंगे आपको करना ये है जब अगले साल मुहर्रम आएगा, 11 मुहर्रम को या तो अपने इतने पैसे रखे हो की मजलिस मुक़र्रर वक़्त पर कर सकते हो, तो आपको 11 मुहर्रम को जाफर जिन और मोला हुसैन की मजलिस रखनी है और इन्ही की आपको नियाज़ करानी है जितने भी पैसे आप हर नौचंदी जुमरात को रखते रहेंगे उनको आपको गिनना हरगिज़ नहीं है के कितने रख दिए बस आपको हर नौचंदी जुमरात को रखते जाना है !

जब आप ये पैसे निकालेंगे 11 मुहर्रम को नियाज़ के लिए जो भी अपने सामन लेना है जो भी अपने नियाज़ के लिए लेना है जैसे- मिठाई, फल तबर्रुक तो आपको इन पैसो से बचा हुआ एक भी रुपया घर में नहीं लाना है चाहे आपका एक ही रुपया बचा हो आपको इसका भी कुछ न कुछ ले लेना है !

ये ऐसा अम्ल है आपको खुद इसका अंदाजा हो जाएगा जो अपने मुराद सोची है या दिमाग में है वो मुराद तक आपकी पूरी हो जायगी ये बेहद ही मुजर्रब और बेहरीन अम्ल है जो काम आप सोचेंगे वो काम आपका फ़ौरन बन जाता है !

या तो आप इन पैसो की नियाज़ करा सकते है और अपने रिश्तेदार या मोहल्ले वालो को नियाज़ खिला सकते है या आप जाफर जिन या मोला हुसैन के नाम की मजलिस करा सकते है इसमें कोई पाबन्दी नहीं है के आपको मजलिस करनी है इन पैसो से आपको नज़र करनी है जाफर जिन और मोला हुसैन की !

इस अम्ल को करने से आपकी हर हाजत पूरी होगी ! इंशाल्लाह

इस अम्ल आने दोस्तों रिश्तेदारों और अपने अज़ीज़ को ज़रूर बताए

और आप ये विडियो भी देख सकते है !

Today Live News

5 thoughts on “Jafar jinn ka Amal जाफ़र जिन का अम्ल

  • Pingback: Imam Ali Reza A.S. Ka Angoor Ka Waqia Ayat E Shifa Dua

  • Pingback: Imam Jafar Sadiq Ka Waqia | Or Najjashi ka Waqia - Ayat E Shifa

  • Pingback: Ayateshifa.in

  • December 17, 2020 at 12:58 pm
    Permalink

    Assalamualaikum. Meine aaj yeh amaal kia hai. Kya yeh mannat puri hone pe rok deni hai ya agle saal Muharram tak karte rehna hai. Please bataye?

    Reply
    • December 17, 2020 at 9:37 pm
      Permalink

      A/S App Is Amal Ko Karte Rhe Moharram Tak, Or 11 मुहर्रम को जाफर जिन और मोला हुसैन की मजलिस रखनी है और इन्ही की आपको नियाज़ करानी है जितने भी पैसे आप हर नौचंदी जुमरात को रखते रहेंगे उनको आपको गिनना हरगिज़ नहीं है के कितने रख दिए बस आपको हर नौचंदी जुमरात को रखते जाना है!

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *